जिउतिया/जीवित्पुत्रिका व्रत क्यों मनाया जाता है

Posted in Culture, History, Relegious | Comments Closed

यह कथा महाभारत काल से जुड़ी हुई हैं | महा भारत युद्ध के बाद अपने पिता की मृत्यु के बाद अश्व्थामा बहुत ही नाराज था और उसके अन्दर बदले की आग तीव्र थी, जिस कारण उसने पांडवो के शिविर में